Blogging Se Paise Kaise Kamaye

आज की इस पोस्ट में हम आपको बताएँगे कि ब्लॉगिंग से पैसे कैसे कमाए या ब्लॉगिंग से ऑनलाइन घर बैठे पैसे कैसे कमाए । अगर आप भी ब्लॉगिंग के माध्यम से ऑनलाइन पैसे कमाना चाहते हैं, तो ये आर्टिकल आपके लिए बहुत फायदेमंद होगा।.

अगर आपको ब्लॉगिंग के बारे में कुछ भी नही पता है कि ब्लॉगिंग क्या है और इससे पैसे कैसे कमाए जाते हैं तो आप टेंशन बिल्कुल न लें। हम आपको इसी पोस्ट में ब्लॉगिंग की सारी जानकारी दे देंगे। जिससे आप ब्लॉगिंग करना भी सीख जाएंगे और इससे कमाई करना भी।

हमारी ये पोस्ट उन लोगों के लिए बहुत ही यूजफुल साबित होगी जो ब्लॉगिंग के फील्ड में बिल्कुल नए हैं या ब्लॉगिंग सीखना चाहते है और घर पर रहकर ही ऑनलाइन कामना चाहते हैं। यंहा पर हम आपको ब्लॉगिंग की कुछ ऐसी सीक्रेट बातें बतायेंगे । जिससे कि आप आसानी से ब्लॉगिंग से 20 से 30 हजार रुपये कमा सकेंगे। अगर आप और भी मेहनत कर लेंगे तो आप लाखों रुपए कमा लेंगे।

अगर आप ब्लॉगिंग के बारे में कुछ भी नही पता है तो आपको लग रहा होगा कि 50 हजार, 1 लाख रुपये कमाने की बात कर रहा हूं ये झूठ हैं। लेकिन ये झूठ नही है। आप अपने ब्लॉग पर जितनी मेहनत करेंगे उतना ही अच्छा पैसा कमा सकेंगे। ब्लॉगिंग एक ऐसा फील्ड है, जिसमे आपकी इनकम हर महीने 10 से 15 हजार या इससे भी ज्यादा बढ़ती है, अगर आप सही तरह से और मेहनत से काम करेंगे तो।

ब्लॉगिंग से 50 हजार या एक लाख रुपए कमाना कोई बड़ी बात नही है, अगर थोड़ा भी आप सीरिअस होकर काम करेंगे तो इतना तो आप बहुत आसानी से कमा लेगे। मुझे ब्लॉगिंग स्टार्ट किये मात्र 3 साल हुआ है, लेकिन मात्र इतने कम समय मे ही मैं अपने 2 ब्लॉग से ही काफी अच्छी कमाई कर लेता हूँ।

हर्ष अग्रवाल जैसे ब्लॉगर तो हर महीने 35 लाख और फैशल फारुखी 30 लाख और श्रद्धा शर्मा 22 लाख रुपये कमाते हैं। इनके अलावा और भी ब्लॉगर हैं जो महीने में 20 लाख से ज्यादा कमाते हैं। एक छोटा ब्लॉगर जोकि ब्लॉगिग सीख ही रहा होता है, वो भी लाखों रुपए महीने कमा लेता है। तो चलिए हम आपको बताते हैं कि कैसे आप मोबाइल से ही ब्लॉगिंग करके अच्छी कमाई कर सकते हैं। चलिये सबसे पहले हम आपको ये बता दें कि ब्लॉगिंग क्या है।

आप जो भी सूचनाएं या खबरें गूगल पर पढ़ते हैं, वो क्या है, वे ब्लॉग या वेबसाइट है हैं। जैसे कि आप मेरे इस ब्लॉग पर ब्लॉगिंग से पैसे कैसे कमायें। ये पोस्ट पढ़ रहे हैं तो ये मेरा ये ब्लॉग है। जो आप मेरी इस पोस्ट को पढ़ रहे हैं ये ब्लॉग पोस्ट या आर्टिकल है। शायद अब आपको ब्लॉग क्या होता है ये समझ मे आ गया होगा।

जब हम लगातार ब्लॉग पर पोस्ट या आर्टिकल लिखते हैं तो ब्लॉग पर आर्टिकल लिखने की प्रक्रिया को ब्लॉगिंग कहते हैं। ब्लॉगिंग कोई भी शौकिया तौर पर या सूचनाओं को एक दूसरे से साझा करने के लिए या फिर पैसे कमाने के लिये करता है। लेकिन आज के समय पर किसके पास इतना टाइम है जो शौक के तौर पर ब्लॉग लिखे। इसलिए आज के समय मे ब्लॉगिंग एक प्रोफेशन बन चुका है।

अच्छी- अच्छी जॉब को छोड़कर लोग ब्लॉगिंग कर रहे हैं। ऐसा इसलिए है कि ब्लॉगिंग के फील्ड में अनलिमिटेड पैसा कमा सकते हों। जितना चाहो उतना। वंही नौकरी में आपको कितनी सैलरी मिल सकती है। बहुत ज्यादा एक से दो लाख बस। इतना तो एक मीडियम ब्लॉगर अपने घर पर रहकर ही कमा लेता हूं।

लेकिन मैं आपको सजेस्ट नही कर रहा हूँ कि।आगर आप जॉब कर रहे हों तो जॉब को छोड़कर ब्लॉगिंग करने लगो। आप दिन में एक से 2 घंटे टाइम निकालकर ब्लॉगिंग शुरू करो और करते रहो। जब आपके ब्लॉग से अच्छी कमाई होने लगे तो आप जॉब छोड़कर फुल टाइम ब्लॉगिंग कर सकते हों। इसी तरह स्टूडेंट्स और हाउस वाइफ भी दिन के एक से 2 घंटे निकालकर ब्लॉगिंग की शुरुआत कर सकते हैं।

शूरुआती समय मे आपको थोड़ी दिक्कत होगी। फिर धीरे- धीरे सब सही चलने लगेगा। शूरुआत में आप कोई भी जॉब, बिजनेस या काम स्टार्ट करते हैं तो हमे उसके बारे में कम नॉलेज होती है। जिससे हमें कुछ दिक्कत होती है। जैसे जैसे नॉलेज बढ़ता जाता है, वो दिक्कतें भी दूर हो जाती है। फिलहाल आपको ब्लॉगिंग करने में कोई भी दिक्कत नही आएगी। यंहा पर हम आपको पूरी नॉलेज इसके बारे में देंगे।

ब्लोगिंग से पैसे कैसे कमायें

फ्रेंड्स अब बात आती है कि ब्लॉगिंग से पैसे कैसे कमाए तो हम आपको बता दें कि ब्लॉगिंग के लिए सबसे पहले आपको एक ब्लॉग या वेबसाइट बनानी पड़ेगी। अगर आपको ब्लॉग या वेबसाइट नही बनाना आता है तो हम आगे पोस्ट में आपको ये भी बता देंगे।

ब्लॉग बनाने के लिए आपको डोमेन और होस्टिंग लेना पड़ेगा . ब्लॉग बनाने के बाद आपको अपने ब्लॉग पर पोस्ट यानी कि आर्टिकल लिखने पड़ेंगे। जैसे कि आप मेरा ये पोस्ट ब्लॉग पर पढ़ रहे हैं कि ब्लॉगिंग से पैसे कैसे कमाए। इस तरह आपको भी अपने ब्लॉग पर आर्टिकल या पोस्ट लिखने पड़ेंगे। जिस टॉपिक से रिलेटेड आपका ब्लॉग है। उसी से रिलेटेड आप पोस्ट लिखें।

जब आपको ब्लॉग पर 20 से 30 के आसपास पोस्ट हो जाएं तो आप इसके बाद अपने ब्लॉग को विभिन्न एड नेटवर्क से मोनेटाइज करके यानी कि एड आप अपने ब्लॉग पर लगाकर कमाई कर सकेंगे। इसके लिए आपको आपको अपनी साइट पर 20 से 30 क्वालिटी पोस्ट लिखने के बाद ही एड नेटवर्क से मोनेटाइज करने के लिए भेजें। इतना ध्यान रखे कि सभी पोस्ट यूनिक पोस्ट लिखी होनी चाहिए। तभी आपका अप्रूवल मिलेगा।

आप सोच रहे हों कि बस ब्लॉग बनाया, कॉपी करके 20 से 20 पोस्ट डाल दीं और अच्छे एड नेटवर्क अप्रूवल लेकर कमाई शुरू, तो ऐसे नही होता है। किसी दुसरी साइट से कॉपी करके अपनी साइट पर कंटेंट न डालें। इससे गूगल को लगेगा कि आप तो दूसरों का कंटेंट अपनी वेबसाइट पर पोस्ट करते हैं, तो आपको ब्लॉग को मोनेटाइज करने के लिए अप्रूवल नही मिलेगा।

इसलिए ब्लॉग से अगर कमाई करना है तो आप अपने खुद के आर्टिकल लिखें। अब आप सोच रहे होंगे कि आर्टिकल कैसे लिखें तो आगे पोस्ट में हम आपको ये भी बता देंगे । आप मेरी इस ट्रिक को फॉलो करके बहुत ही आसानी से क्वालिटी वाला आर्टिकल लिख सकेंगे।

एड से पैसे कैसे कमायें

जब आपको एड नेटवर्क से अप्रूवल मिल जाता है तो इसके बाद आप अपने ब्लॉग पर एड लगाकर कमाई कर सकते हैं। लेकिन यंहा पर आपकी कमाई का सिलसिला ऐसे ही नही शुरू होगा। इसके लिए आपको अपने ब्लॉग पर ट्रैफिक भी लाना होगा। ट्रैफिक से मेरा मतलब है कि आपके ब्लॉग पर पढ़ने वाले लोग आने चाहिए।

जब लोग आपके ब्लॉग पर आएंगे तभी तो कमाई होगी। ब्लॉग पर ट्रैफिक लाने के लिये आपको अपने ब्लॉग या वेबसाइट का एसईओ यानी कि सर्च इंजन ऑप्टिमाइजेशन करना होगा। जिससे कि आपकी साइट गूगल रैंक होगी। जब साइट रैंक होगी तो आपकी साइट पर भी ट्रैफिक आएगा। जब आपकी साइट पर विजिटर आने लगेंगे तो कमाई भी होने लगेगी।

एफिलियेट मार्केटिंग से पैसे कैसे कमायें

ऐसा नही है कि आप अपने ब्लॉग से सिर्फ एड से ही कमाई कर सकेंगे। बल्कि आप एफ़िलीएट मार्केटिंग और स्पोंशोरशिप के माध्यम से भी कमाई कर सकते हैं। शायद आपको ये मालूम न हो कि एफ़िलीएट मार्केटिंग क्या होता है, तो चलिये हम आपको बता देते हैं।

एफ़िलीएट मार्केटिंग का मतलब है कि जब आप अपने ब्लॉग या वेबसाइट पर जैसे कि अमेज़न, फ्लिपकार्ट या अन्य ई कामर्स साइट के प्रोडक्ट या अन्य प्रोडक्ट अपनी साइट पर प्रमोट करते हैं और जब कोई आपकी साइट से उस प्रोडक्ट को खरीदता है तो उसके बदले आपको कमीशन मिलता है। सही मायने में तो एड से ज्यादा कमाई तो एफ़िलीएट मार्केटिंग से होती है। इससे आपको कम विजिटर्स से भी अच्छी इनकम हो जाती है।

स्पांसरशिप से पैसे कैसे कमायें

स्पोंशोरशिप भी ब्लॉग से कमाई करने का एक अच्छा तरीका है। अगर आपको नही पता है कि स्पोंशोरशिप क्या है तो हम आपको बता दें कि जैसे कि अगर कोई डॉक्टर है वो आपको बोलता है कि आप अपने ब्लॉग पर हमारे हॉस्पिटल के बारे मे एक पोस्ट पब्लिश करें, इसके बदले में हम आपको 50 हजार रुपये देंगे। तो इसको ही स्पोंशोरशिप कहते हैं। आज के समय में हर कॉलेज, यूनिवर्सिटी, हॉस्पिटल, रेस्टोरेंट, कंपनी सभी स्पोंशोरशिप करती हैं। एक- एक स्पोंशोरशिप का आपको 10 हजार से लेकर लाखो रूपये तक मिल सकता है।

बैकलिंक से पैसे कैसे कमायें

आज के समय मे ऑनलाइन एर्निंग के मामले में ब्लॉग बहुत ही ज्यादा फेमस और पैसे कमाने का साधन है। पूरी दुनिया की तो बात ही छोड़ो अपने भारत मे ही कई लाख लोग ब्लॉगिंग करते होंगे। प्रतिदिन हजारों की संख्या में नए ब्लॉग बनाये जाते होंगे। ऐसे में इन ब्लॉग या वेबसाइट को रैंक करने के लिए बैकलिंक की जरूरत होती है। जिससे कि उसकी साइट रैंक हो जाये। आपको फायदा ये होगा कि फ्री लिखा आर्टिकल आपको मिल जाएगा। जिसको आप अपने ब्लॉग पर पब्लिश करोगे और पैसा तो आपको मिल ही रह है। तो इस तरह से आपको दो फायदे होते हैं।

अगर आपको पता नही है कि बैकलिंक क्या होता है तो हम आपको बता दें कि मैंने आपको बैकलिंक के लिए एक पोस्ट लिखकर दी, इसके बदले में आप मुझे एक ऐसा लिंक देंगे जिसपर क्लिक करके आपकी साइट से कोई भी यूजर मेरी साइट पर आ जायेगा। तो इस तरह आप दूसरे ब्लॉगर से गेस्ट पोस्ट भी लेंगे और साथ ही ये लिंक देने के रुपये चार्ज कर सकते हैं। आमतौर पर एक बैकलिंक का चार्ज 7 से 20 हजार या इससे भी ज्यादा होता है।

प्रोडक्ट बेंचकर पैसे कैसे कमायें

आगर आपका ब्लॉग या वेबसाइट ऐसे किसी टॉपिक पर है, जिसपर कि आप अपना खुद का प्रोडक्ट भी सेल कर सकते हैं, तो आप इससे भी अच्छी कमाई कर सकते हैं। जैसेकि मेरा ब्लॉग है ब्लोगिंग से पैसे कैसे कमाए तो हम अगर चाहे तो ब्लॉगिंग कैसे करें और कैसे इससे पैसे कमाए तो इस तरह का एक कोर्स बनाकर अपने ब्लॉग पर बेच सकते हैं तो इससे भी काफी अच्छी इनकम कर सकते हैं। चलिये अब हम पहले आपको ये बता देते हैं कि ब्लॉग क्या होता है और ब्लॉग कैसे बनाये। इसके बाद हम आपको ब्लॉगिंग से जुड़ी कुछ जरूरी बातें बतायेंगे।

ब्लॉग कैसे बनायें

ब्लॉग बनाने के लिए सबसे पहले आप ये डिसाइड करें कि आपको किस टॉपिक पर ब्लॉग बनाना है। आप उसी टॉपिक पर ब्लॉग बनाये जिसमे बारे में ज्यादा नॉलेज हो और आपको भी उस टॉपिक में इंटरेस्ट हो। उस टॉपिक पर काम करने में आपको मजा आना चाहिए।

अगर आप किसी ऐसे टॉपिक को चूज कर लेंगे। जिसमे आपको इंटरेस्ट ही नही और आपको काम करने में बोरियत लगे, तो आप ऐसे टॉपिक पर ज्यादा नही लिख पाएंगे। बहुत ज्यादा आप 1 से 2 महीने या 6 महीने तक इस पर काम कर पाएंगे। इसलिए ब्लॉगिंग करने के लिए टॉपिक सोच- समझकर डिसाइड करें।

कुछ लोग ये सोचते हैं कि मैं ऐसे टॉपिक पर ब्लॉग बनाना चाहता हूं, जिसका सीपीसी हाई हो। सीपीसी हाई होने का मतलब ये है कि उस टॉपिक पर ब्लॉग बनाना जिसपर एड महंगे आते हों। जिससे कि उस टॉपिक पर ब्लॉग बनाने से आपकी इनकम ज्यादा होगी। चलिये हम आपको हाई सीपीसी वाले ब्लॉग के लिए टॉपिक बता देते हैं।

ब्लॉगिंग के लिए हाई सीपीसी टॉपिक

बैंक

इंश्योरेंस

लोन

क्रेडिट

हेल्थ

ब्लॉग थीम

ब्लॉगिंग

होस्टिंग

ऑनलाइन एर्निंग

एफ़िलीएट मार्केटिंग

डिजिटल मार्केटिंग

इन टॉपिक्स का सीपीसी हाई रहता है। सीपीसी का मतलब होता है कि कास्ट पर क्लिक यानी कि आपके ब्लॉग पर कोई विज्ञापन शो हो रहा है तो कोई यूजर अगर उस पर क्लिक करता है तो उस एक क्लिक पर आपको कितना पैसा मिलता है। अगर कास्ट पर क्लिक कम है तो इनकम कम होगी। अगर आप इंडिया के अलावा यूएस, और यूके जैसी कंट्री को टारगेट करके ब्लॉगिंग करते हैं तो वंहा पर और भी ज्यादा सीपीसी मिलता है। जिससे और भी ज्यादा इनकम होती है।

चलिये मान लीजिए अब आपने ब्लॉग का टॉपिक सोच लिया है, तो अब आगे क्या करना है। अब आपको आगे ब्लॉग का नाम डिसाइड करना है। यंहा पर हम आपको एक ट्रिक बता दें कि आपको अपने ब्लॉग का नाम कैसे डिसाइड करना है। जिससे आपका ब्लॉग जल्दी रैंक होगा और इनकम भी अच्छी होगी।

आपको क्या करना है कि ब्लॉग आपको सिर्फ एक ही टॉपिक एक ही निच पर बनाना है। जैसे कि आप ब्लॉगिंग के ऊपर एक ब्लॉग बनान चाहते हैं, जिस पर आप लोगो को ब्लॉगिंग करना सिखाएंगे। तो आपको ब्लॉग का नाम इस तरह रखना है कि ब्लॉग या ब्लॉगिंग आपके ब्लॉग के नाम मे आ जाये। जैसे कि उदाहरण के तौर पर ब्लॉगिंग टिप्स, ब्लॉगिंग ट्रिक्स, ब्लॉगिंग सीखो, आदि इस तरह से आपको नाम रखना चाहिए। इसका फायदा क्या होगा आगे अभी आपको पता चल जाएगा।

ब्लॉग के लिए डोमेन नेम खरीदें

अब आपने अपने ब्लॉग का नाम सोच लिया है तो अब आपको एक डोमेन नेम खरीदना पड़ेगा। अगर आपको नही पता है कि डोमेन नेम क्या होता है तो जान लीजिए। डोमेन नेम।आपके ब्लॉग का एक वेब एड्रेस होता है। जिसके जरिये कोई भी यूजर आपकी साइट पर आता है।

जैसे कि https://onlinepaisekaisekamaye.in यह मेरा डोमेन नेम है। जब आप इस डोमेन नेम को गूगल में सर्च करेंगे तो सीधे ही आप हमारे ब्लॉग पर आ जाएंगे। इस तरह आपको भी डोमेन नेम खरीदना होगा। डोमेन नेम खरीदते समय इस बात का ध्यान रखें कि डोमेन नेम ऐसा हो जोकि आसानी से लोगों को याद हो जाये और साथ ही जिस टॉपिक पर आपका ब्लॉग का उसका नाम डोमिन नेम में हो तो अच्छा है।

जैसेकि कि मेरा ब्लॉग ऑनलाइन पैसे कैसे कमाए हैं तो इसमे ऑनलाइन पैसे किसे कमाए शब्द भी शामिल है। चलिये अब जान लेते हैं कि डोमेन नेम कंहा से खरीदना चाहिए। वैसे ज्यादातर नए लोग तो गोडैडी से ही डोमेन नेम खरीदना पसन्द करते हैं। आप यंहा से भी डोमेन नेम खरीद सकते हैं। इसके अलावा अगर आप जंहा से ब्लॉग के लिए होस्टिंग खरीदें तो आप वंहा से भी डोमेन नेम को खरीद सकते हैं। आगे आपको होस्टिंग क्या है इसके बारे में भी पता चल जाएगा।

हमेशा .कॉम ही डोमेन नेम खरीदें। जोकि काफी अच्छा रहता है। अगर आपको जो डोमेन नेम पसन्द है वो नही .कॉम मिल पा रहा है तो आप .इन भी ले सकते हैं। जैसेकि www. xyz.com आप डोमेन नेम लेना चाहते हैं, लेकिन इसको पहले से ही किसी ने खरीद लिया है तो आप www.xyz.in ये डोमेन नेम खरीद सकते हैं। अगर आप सिर्फ इंडिया में ब्लॉगिंग करना चाहते हैं तो। अगर आपका टारगेट इंटरनेशनल है तो आपको .कॉम वाला ही डोमेन खरिदना चाहिए।

फिलहाल डोमेन आप कोई से भी लें। साइट की रैंकिंग पर कोई भी फर्क नही पडेगा। ऐसा नह है कि अगर आपने .कॉम डोमेन लिया है तो आपकी साइट जल्दी रैंक हो जाएगी। ऐसा कुछ भी नही होता है।

ब्लॉग ब्लॉगर पर बनाएं या वर्डप्रेस पर

जब आप डोमेन नेम खरीद लेते हैं तो अब आगे बात आती है कि ब्लॉग को ब्लॉगर पर बनाएं या वर्डप्रेस पर। दोनों में से कौन सा अच्छा होता है। अगर आप इस फील्ड में नए हैं तो आपको ब्लॉगर और वर्डप्रेस में से किस पर ब्लॉग बनाना चाहिए। सबसे पहले हम आपको ब्लॉगर और वर्डप्रेस के बारे में बता देते हैं।

ब्लॉगर क्या है?

ब्लॉगर एक गूगल की सर्विस है। इस पर आप अपने डोमिन नेम को जोड़ते हैं तो आपका ब्लॉग बनकर तैयार हो जाता है। अब बस आगे आपको अपने ब्लॉग के लिए पोस्ट लिखने की जरूरी होती है। ये बिल्कुल फ्री होता है। अगर आप ब्लॉगर पर अपने ब्लॉग या वेबसाइट को बनाते हैं तो यंहा पर कुछ लिमिट होती हैं। लिमिट की बात करें यो यंहा पर अगर आपको अपने ब्लॉग को बहुत ही अट्रैक्टिव बनाना है तो आपको ब्लॉगर में कोई खास फीचर या सुविधा नही मिलती है। लेकिन फिर भी काम चलाऊ जुगाड़ हो जाता है। आपकी ब्लॉगिंग से एर्निंग शुरू हो जाती है।

इसके अलावा अगर आपके ब्लॉग की स्पीड किसी भी वजह से कम है तो उसको आप कैसे बढ़ाएंगे, इसका कोई उपाय नही है। अगर है भी तो इतना जटिल की नए ब्लॉगर के वश की बात नही। वंही वर्डप्रेस में मात्र एक स्पीड बूस्टर प्लगइन इंसटाल कर दोगे तो ये प्रोब्लेम्स सॉल्व हो जाएगी।

इसके अलावा अगर आपको अपने ब्लॉग के लिए इमेज ऑप्टिमाइजेशन करना है तो ब्लॉगर में वो भी करना मुश्किल है। वर्डप्रेस में सब आसानी से मात्र एक क्लिक से ही हो जाता है। वंही अगर आप ब्लॉगर यानी कि गूगल की फ्री सर्विस को यूज करना चाहते हैं तो उसके लिए आपको बेसिक एचटीएमएल, सीएसएस जैसी लैंग्वेज आती हो तो अच्छा रहेगा।

इसके अलावा ब्लॉगर पर आप अपने ब्लॉग का सही से सीओ भी नही कर सकते है। अगर एसईओ यानी कि सर्च इंजन ऑप्टिमाइजेशन सही नही है तो आपकी साइट गूगल में सही से रैंक नही होगी। जब साइट रैंक नही सही से होगी तो इनकम कहां से होगी। वंही वर्डप्रेस में बिल्कुल अच्छे से एसईओ कर सकते हैं। चलिये अब वर्डप्रेस के बारे में जान लेते हैं।

वर्डप्रेस क्या है?

ब्लॉगर की तरह ही वर्डप्रेस भी एक कंटेंट मैनजमेंट सिस्टम हैं। जिसपर हम ब्लॉग या वेबसाइट बना सकते हैं। लेकिन ब्लॉगर की तरह या फ्री नही होती है। वर्डप्रेस पर ब्लॉग या वेबसाइट बनाने के लिए आपको होस्टिंग खरीदनी होगी।

अगर आपको नही मालूम है कि होस्टिंग क्या होता है तो चलिये पहले हम आपको होस्टिंग के बारे में बता देते हैं। जैसेकि हम किसी भी शहर में जाते हैं वंहा पर रहने के लिए हमको एक मकान या रूम चाहिए होता है, ठीक इसी तरह जब हम वर्डप्रेस पर ब्लॉग बनाते हैं तो इसके लिए हमे होस्टिंग खरीदनी होती है। जंहा पर हमारे द्वारा लिखी गई पोस्ट सेव रहती हैं। यानी कि हमारा डेटा होस्टिंग में सेव रहता है।

चलिये अब फिर से वर्डप्रेस पर आ जाते हैं। अगर आप वर्डप्रेस पर ब्लॉग बनाते हैं तो आप इसको मन चाहा लुक और डिज़ाइन दे सकते हैं। इस पर आपका पूरा कंट्रोल होता है। इसके साथ ही अगर आपके ब्लॉग की सही स्पीड नही है या अन्य प्रॉब्लम हैं तो आप उसको भी आसानी से मेंटेन कर लेंगे। इसके साथ ही आप अपने ब्लॉग का एसईओ भी अच्छे से कर सकेंगे। एक तरह से वर्डप्रेस पर आप हर चीज कंट्रोल कर सकते हैं और इसके लिए आपको किसी भी टेक्निकल नॉलेज की जरूरत नही होती है।

इस तरह से आप इन दोनो में से किसी एक प्लेटफार्म पर अपना ब्लॉग बना सकते हैं और ऑनलाइन एर्निंग शुरू कर सकते हैं। मेेरे हिसाब से और मैं अपने अनुभव के आधार पर तो यही कहना चाहूंगा कि आप वर्डप्रेस पर ही ब्लॉग सेटअप करें।

अगर आप ब्लॉगर पर अपना ब्लॉग या वेबसाइट बनाते हैं तो आगे चलकर जब आपका ब्लॉग सक्सेज हो जाएगा। यानी कि जब आपके ब्लॉग से अच्छी इनकम होने लगेंगी तो फिर आप चाहेंगे कि अब आपको ब्लॉगर छोड़कर वर्डप्रेस पर जाना चाहिए। तब आपको प्रॉब्लम आएगी। फिलहाल आपका डेटा तो रिकवर हो जाएगा, लेकिन फिर भी बहुत सी ऐसी प्रॉब्लम आपको देखने को मिलेगी। जोकि सॉल्व करना आपके लिए मुश्किल का काम होगा।

अगर आपको कोडिंग और सीएसएस, जेएस, एचटीएमएल जैसी लैंगुएज की जानकारी है तब तो आप ये सब कर पाएंगे। लेकिन फिर भी आपकी साइट पर ट्रैफिक कम हो जाएगा। जिसकी वजह से आपकी इनकम कम हो जाएगी। अब आपको फिर से अपने ब्लॉग पर ट्रैफिक लाने के लिए मेहनत करनी होगी। इसलिए मैं आपको यही सलाह दूंगा कि आप एक अच्छी सी होस्टिंग खरीदकर वर्डप्रेस पर साइट बनाएं।

ब्लॉगिंग के लिए कौन सी होस्टिंग लें?

वैसे तो बहुत सारी अच्छी होस्टइंग कंपनी हैं जंहा से आप अपने ब्लॉग या वेबसाइट के लिए होस्टइंग खरीद सकते हैं। लेकिन आप ऐसे ही किसी भी होस्टइंग को अनजाने में न खरीदें। अभी आप ब्लॉगिंग के फील्ड में नए हैं और अभी तक आपने कोई भी होस्टइंग यूज नही की है। ऐसे में आपको ये तो पता नही होगा कि कौन सी कंपनी की होस्टइंग आपके ब्लॉग के लिए सही होगी। जोकि आपको अच्छा सपोर्ट दे सके और आपको बेस्ट क्वालिटी की सर्विस दे और साथ ही बजट फ्रेंडली भी हो। जो ज्यादा महंगी न हो और सर्विस भी उसकी बिंदास हो।

ऐसे में मैं सिर्फ आपको दो होस्टइंग ही लेने की सलाह दूंगा। पहला तो फास्टकोमेट होस्टिंग हैं और दूसरी होस्टइंग रिसेलेरकलब की होस्टइंग है। पिछले दो सालों से मैं इसको यूज कर रहा हूँ। इस होस्टइग कंपनी की सबसे अच्छी खासियत तो ये है कि इनका कस्टमर सपोर्ट बहुत ही अच्छा है। अगर आपकी साइट में कोई भी प्रोब्लेम हो रही है तो आप सीधे ही इनको इस नंबर 02267209090 पर कॉल करके समाधान पा सकते हैं। यंहा पर तुरंत ही आपकी समस्या सॉल्व की जाती है। इसके साथ ही इनकी होस्टइंग में आपको कोई भी दिक्कत नही होने वाली।

होस्टइंगर कंपनी की बात करें तो होस्टिंगर भी लगभग आपके लिए सही है। बहुत से ब्लॉगर आपको इसकी होस्टइंग लेने की सलाह देंगे। लेकिन भाई मैं आपको इसकी होस्टइंग लेने की सलाह नही देता। मैं इसकी यानी कि होस्टिंगर की होस्टइंग भी यूज कर चुका हूं। मुझे इस होस्टइंग मे दो बहुत ही बड़ी कमियां लगीं। जिसमे से पहली तो ये है कि इनका सर्वर लोकेशन इंडिया में नही है। ऐसे में अगर इंडिया के विजिटर आपकी साइट को ओपन करेंगे तो साइट देर से लोड होगी। जिससे आपकी साइट की रैंकिंग पर भी फर्क पड़ेगा।

इसकी सबसे बड़ी दूसरी कमी ये है कि अगर आपको आपकी साइट या होस्टइंग में कोई भी दिक्कत होती है तो यंहा पर आपको कोई भी फोन नम्बर कांटेक्ट करने के लिए नही मिलेगा। आप सिर्फ चैट के माध्यम से ही इनसे बात कर सकते हैं, वो भी सिर्फ इंग्लिश में वो भी आपको इसके लिए टिकेट सबमिट करना पड़ेगा। ऐसे में अगर आप हिंदी ब्लागर हैं तो आपके लिए तो बहुत ही बड़ी दिक्कत हो जाएगी। इसके साथ ही इनकी टीम काफी देर में रिप्लाई करती है।

इसलिए अगर आप ब्लॉगिंग के फील्ड में नए हैं तो आप इस होस्टइंग को भूलकर भी न लें। इसके अलावा रिसेलरकलब की तुलना में काफी महंगी है और इनका सपोर्ट बिल्कुल मुझे पसन्द नही आया। अगर आप ज्यादा एडवांस लेवल की होस्टिंग लेना चाहते हैं तो आप फास्टकोमेट की क्लाउड होस्टिंग ले सकते हैं।

वैसे तो आपको बहुत सी सस्ती होस्टिंग मिल जाएंगी। लेकिन आप ज्यादा सस्ती होस्टिंग के चक्कर मे न पड़ें। क्योंकि सस्ती होने के कारण इनकी सर्विस बिल्कुल घटिया किस्म की होती है। ये होस्टिंग 99.99% अपटाइम की आपको गारंटी तो देती हैं, लेकिन क्या वास्तव में ऐसा होता है, बिल्कुल नही। जिसकी वजह से यंहा पर आपकी साइट डाउन हो जाती है। अभी आप इस फील्ड में नए हैं तो आप ये भी नही पता कर पाएंगे कि सस्ती होस्टिंग की वजह से आपको कब और कहां दिक्कत हो रही है।

सस्ती होस्टिंग होने की वजह से आपकी साइट की लोडिंग स्पीड भी घटिया रहती है। जिससे कि जब कोई यूजर आपकी साइट पर आता है तो आपकी साइट काफी टाइम लोड होने में ले लेती है। जिससे यूजर आपकी साइट को छोड़कर दूसरी साइट पर चला जाता है। जब यूजर आपकी साइट को छोड़कर दूसरी साइट पर जाने लगते हैं तो गूगल में आपकी साइट की रैंक डाउन हो जाती है। जब साइट की रैंक ही डाउन हो गई तो अब आपकी साइट पर ट्रैफिक भी कम हो जाएगा। जिससे आपकी कमाई भी कम हो जाएगा।

इस तरह की घटिया, सस्ती होस्टिंग और अच्छी होस्टिंग के प्राइस में कोई खास अंतर नह होता है। अगर आप एक साल के लिए होस्टिंग लेते हैं तो बहुत ज्यादा 500 का घटिया और अच्छी होस्टिंग में अंतर होगा। इसलिए भाई 500 रुपये का लालच न करके एक विश्वसनीय होस्टिंग खरीदें। जिससे आपकी साइट की लोडिंग स्पीड अच्छी होगी और साइट तेजी से बूस्ट करेगी और इससे आपकी इनकम भी बढ़ेगा।

ऐसा नही है कि रिसेलरकलब ही बेस्ट होस्टिंग की सुविधा देता है, बल्कि और भी बेस्ट क्वालिटी की होस्टिंग प्रोवाइडर कंपनी हैं। आप वंहा से भी हॉस्टिंग खरीद सकते हैं। लेकिन ये होस्टिंग थोड़ा महंगी हैं। जिनके नया ब्लॉगर शायद न खरीद पाए। इन होस्टिंग को बडे- बडे ब्लॉगर ज्यादा यूज करते हैं जो लाखो रुपये महीना कमाते हैं।

बेस्ट होस्टिंग कंपनी इन इंडिया

फास्टकोमेट

रिसेलरकलब

केमिक्लाउड

होस्टिंगर

ए2 होस्टिंग

साइटग्राउंड

ब्लूहोस्ट

होस्टगेटर

नेमचिप

गोडैडी

ग्रीनगीक

क्लोउडवेज

जब भी आपको होस्टिंग खरीदना हो तो ऊपर बताई गई, किसी भी होस्टिंग प्रोवाइडर कंपनी से होस्टिंग कंपनी से खरीद सकते हैं। लेकिन अगर आप ब्लॉगिंग के फील्ड में नए हैं तो फास्टकोमेट और रिसेलरकलब आपके लिए बेस्ट होस्टिंग है। मैं भी पिछले दो साल से इन दोनों को यूज कर रहा हूँ। होस्टिंगर पर भी मैंने 1 ब्लॉग होस्ट किया हैं, लेकिन मुझे होस्टिंगर सही नहीं लगा।

वंही फास्टकोमेट और रिसेलरकलब की खासियत ये है कि यंहा पर आपकी साइट की बहुत बढ़िया रहती है और इसका अपटाइम भी 99.99% परसेंट रहता है। जबकि अन्य सस्ती होस्टिंग सेल करने वाली कंपनी आपको घटिया किस्म की सर्विस देकर चीट करती हैं। अभी आप इस फील्ड में नए हैं तो आपको नह पता है कि एक घटिया किस्म की होस्टिंग कितना नुकसान दे सकती है। लेकिन फास्टकोमेट और रिसेलरकलब इतनी सस्ती भी नही है कि अच्छी सर्विस आपको न दे सके।

होस्टइंग कंही से भी खरीदें इस बात का ध्यान रखें कि सर्वर लोकेशन अपना कंट्री ही चूज करें या कंट्री के नजदीक का लोकेशन ही चूज करें। सर्वर लोकेशन क्या होता है अगर आपको नही पता है तो आप ये भी जान लें। सर्वर लोकेशन वो जगह होती है, जंहा पर आपकी साइट का डेटा यानी कि पोस्ट सेव रहती हैं। अपने पास के सर्वर लोकेशन का फायदा ये होता है कि आपकी साइट का कंटेंट जल्दी लोड हो जाता है। जिससे यूजर को कंटेंट जल्दी पढ़ने को मिल जाता है।

वंही अगर मान लीजिए अगर आपका हिंदी में ब्लॉग या वेबसाइट है तो आपका टारगेट ऑडियंस तो इंडियन ही होंगे तो ऐसे में अगर आप सर्वर लोकेशन अमेरिका या अन्य कोई इंडिया से दूर का लोकेशन चूज करेंगे तो जब इंडिया में आपकी साइट कोई भी सर्च करेगा तो डेटा को अमेरिका से इंडिया तक आने में टाइम लगेगा। जिससे आपके कंटेंट की लोडिंग स्पीड भी प्रभावित होगी। जोकी आपके लिए नुकसानदेह साबित हो सकता है। ब्लॉग बनाने के बाद आप अपनी साइट को गूगल सर्च कंसोल में सबमिट जरूर करें। जिससे आपकी साइट गूगल में रैंक होने लगेगी।

फ्री ब्लॉगिंग से पैसे कैसे कमायें

अब बात आती है कि बहुत से लोग आपको बताते हैं कि फ्री ब्लॉगिंग से पैसे कैसे कमाए तो भाई आप ब्लॉग से फ्री इस तरह पैसा कमा सकते हो। जब आप बिना हॉस्टिंग और डोमेन लेकर ब्लॉगर पर यानी कि ब्लॉग्स्पॉट पर अपना ब्लॉग बनाएं। लेकिन ब्लॉगर पर ब्लॉग या वेबसाइट बनाने के फायदे और नुकसान के बारे में तो हम आपको पहले ही बता चुके हैं। चलिये अब जान लेते हैं कि ब्लॉगिंग से आप महीने में कितना पैसा कमा सकते हैं?

ब्लॉगिंग से कितने पैसे कमा सकते हैं?

अगर आप राइट वे में ब्लॉगिंग करते हैं तो इनकम की कोई लिमिट ही नही होती है। यंहा पर अनलिमिटेड पैसा है। एक तरह से ब्लॉगिंग पैसों का पेड़ हैं, रुपये लगें हैं हिला लो, जितने चाहो उतने। यंहा पर ज्यादा पैसा कमाने के लिए जरूरत है तो सिर्फ आपकी मेहनत की, वो भी सही डायरेक्शन में। जब आप ब्लॉगिंग की शुरुआत करेंगे तो 1 से 2 महीने तक तो आपको सिर्फ काम ही करना होगा, कमाई न के बराबर होगी। इसके बाद धीरे- धीरे आपकी एर्निंग बढ़ती जाती है।

जब आपकी ब्लॉगिंग चलने लगती है तो शूरुआत में आप महीने 15 से 30 हजार रुपये कमा पाएंगे। अगर अच्छी नॉलेज है तो ज्यादा भी। वंही जब आपके ब्लॉग की रैंकिंग सही होती जाएगी और ट्रैफिक आपके ब्लॉग पर बढ़ता जाएगा तो आप लाखोँ रुपये तक महीने में कमा सकते हैं। वंही अगर आप ब्लॉगिंग को सिर्फ पार्ट टाइम ही करते हैं तो भी आप 30 से 50 हजार महीने में कमा सकते हैं। बड़े- बड़े ब्लॉगर महीने में 40 से 50 लाख तक ब्लॉगिंग से पैसा कमाते हैं। मेहनत करेंगे तो कुछ भी असम्भव नही। चलिये अब बता देते हैं कि ब्लॉगिंग से कितने दिन में आपकी कमाई होने लगती है।

ब्लॉगिंग से कितने दिनों में कमाई होने लगती है?

आगर आप ब्लॉगिंग के फील्ड में नए हैं, तो सबकुछ आपको सीखना होगा। ऐसे में आपको ब्लॉगिंग से पैसे कमाने में 2 से 3 महीने तक लग सकते हैं, पर जरूरी भी नही, इससे जल्दी भी आप अपने ब्लॉग से अच्छी कमाई कर सकते हैं। अगर आप सहज तरह से काम नही कर रहे हैं तो आप सालों में भी ब्लॉगिंग से नही कमा पाएंगे। फिलहाल औसतन 4 से 6 माह में आप अपने ब्लॉग से ठीकठाक कमाई करने लगते हैं। चलिये अब जान लेते है कि अगर आपने डोमेन और होस्टइंग खरीदकर ब्लॉग भी बना लिया तो अब ब्लॉग से जल्दी पैसा कमाने के लिए आपको किया करना होगा?

ब्लॉग से पैसे कमाने के लिए ब्लॉग पर ट्रैफिक लाओ

सीधा सा जबाब है कि अगर आपके ब्लॉग पर लोग आते हैं या आपके ब्लॉग पर ट्रैफिक आता है तब तो आपकी कमाई होगी। अब ऐसे में सवाल ये है कि नए ब्लॉग पर ट्रैफिक कैसे लाएं। तो इसके लिए आप सोशल मीडिया की मदद ले सकते हैं।

इसके लिए आप फेसबुक पर पेज और ग्रुप बनाएं और जो भो आर्टिकल अपने ब्लॉग पर पोस्ट करें तो उसको अपने फेसबुक पेज और ग्रुप में भी शेयर करें। इससे आपकी साइट पर ट्रैफिक आना स्टार्ट हो जाएगा।

इसके अलावा आप इंस्टाग्राम और पिंटरेस्ट से भी आप अपने ब्लॉग पर ट्रैफिक ला सकते हैं। कोरा और क्वेश्चन हब जैसे प्लेटफार्म से भी आप अच्छा खासा ट्रैफिक अपने ब्लॉग पर लाकर कमाई कर सकते हैं। नए ब्लॉग पर ट्रैफिक लाने का सबसे अच्छा प्लेटफॉर्म यूट्यूब है। आप जिस टॉपिक पर ब्लॉग बनायें, उसी टॉपिक पर आप यूट्यूब चैनल भी बना लें। जो भी आप ब्लॉग के आर्टिकल में लिखेंगे वंही आप अपने यूट्यूब वीडियो में भी बता दें। इससे आपको कमाई ब्लॉग के अलावा चैनल से भी होगी।

यूट्यूब से ब्लॉग पर ट्रैफिक लाने के लिए आपको सिर्फ अपने यूट्यूब वीडियो के डिस्क्रिप्शन में अपनी वेबसाइट या ब्लॉग का लिंक डालना होगा। जिससे कोई भी यूजर उस लिंक पर क्लिक करके आपकी वेबसाइट पर पहुँचेगा। इस तरह से आप अपने ब्लॉग या वेबसाइट पर सोशल मीडिया के जरिये नए ब्लॉग पर आसानी से ट्रैफिक ला सकते हैं।

गूगल से ट्रैफिक लाने में आपको थोड़ा टाइम लगेगा और साथ ही आपको अपने ब्लॉग का एसईओ यानी कि सर्च इंजन ऑप्टिमाइजेशन करना होगा। जिससे आपकी साइट गूगल में रैंक होगी। इसके लिए आप अपनी साइट पर ऑन पेज एसीओ और ऑफ़ पेज एसईओ करें। लेकिन अब बात आती है कि ये सब करना कैसे है। ऑन पेज एसईओ के लिए आप अपनी वेबसाइट का टाइटल ऐसा लिखें। जिससे कि लोगों को वह अट्रैक्टिव लगे। जिससे कि लोग उस पर क्लिक करके आपकी साइट पर आएंगे। इसके साथ ही जो आपके ब्लॉग का टाइटल होगा, उसको ही मेन हैडिंग बनाएं और साथ ही उसको ही पर्मालिंक में डालें। इसके साथ ही अपनी अन्य पोस्ट की लिंक भी अभी पोस्ट करने वाली पोस्ट में दें। ये सब ऑन पेज एसईओ होता है। जोकि आपको अपनी साइट पर ही करना होता है।

इसके साथ ही ऑफ़ पेज एसईओ जो होता है, उसमे आपको दूसरे अन्य लोगों के ब्लॉग से लिंक मिलता है, जंहा से आपको ट्रैफिक आता है। इस लिंक को बैकलिंक कहते हैं। दूसरे की साइट से बैकलिंक लेने के लिए आपको या तो दूसरे ब्लॉगर से कांटेक्ट करके एक ब्लॉग पोस्ट लिखना होगा, जिसके माध्यम से आपको वंहा से बैकलिंक मिलेगा या आप पैसे देकर भी बैकलिंक दूसरी साइट से ले सकते हैं। लेकिन नए ब्लॉगर के लिए ये सब बहुत ही मुश्किल होगा। इसलिए शूरुआती समय मे आप सभी सोशल मीडिया प्लेटफॉर्म की मदद लें। जोकि काफी आसान होता है।

ब्लॉग कौन बना सकता है ?

देखिए ब्लॉग कोई भी बना सकता है। अगर आप 10वीं या 12वीं में पढ़ रहे हैं या पास कर चुके हैं। आपको हिंदी या अंग्रेजी में लिखना आता है तो आप अपना ब्लॉग बनाकर कमाई कर सकते हैं। अगर आप बेरोजगार हैं तब तो ब्लॉगिंग आपके लिए बेहतरीन जरिया हो सकता है। अगर आपने ब्लॉगिंग को थोड़ा भी सीरियस होकर किया तो आप 30 से 50 हाजर रुपये तो बहुत ही आसानी से कमा लेंगे। ऑज के जमाने मे जिसने भी ब्लॉग से पैसे नही कमा पाए तो वो क्या कर पायेगा।

हम ऐसा इसलिए बोल रहे हैं, कयोंकि ब्लॉगिंग में आप आगर थोड़ी भी सीरियस होकर मेहनत करेंगे। तो आप 100% कमाई करने लगेंगे। दूसरी खास बात ये है कि यंहा पर रिस्क कम होता है और न ही आपका ज्यादा पैसा लगता है। वंही अगर आप नौकरी करते हैं या आप घरेलू महिला हैं तो थोड़ा सा समय निकालकर आप ब्लॉगिंग करके पैसे कमा सकते हैं। चलिये अब जान लेते हैं कि ब्लॉगिंग क्या होते हैं।

ब्लॉगिंग के फायदे

ब्लॉगिंग से आप मात्र 2000 से 3 हजार में ही अच्छा- खासा बिजनेस शुरू कर सकते हैं।

इसमे रिस्क बहुत कम होता है।

ब्लॉगिंग से आप अनलिमिटेड पैसा कमा सकते हैं।

ब्लॉगिंग आप अपने हिसाब से दिन में किसी भी समय कर सकते हैं। समय का कोई बाउंडेशन नही होता है।

ब्लॉगिंग में आप खुद के बॉस होते है। बॉस, आफिस का कोई झंझट ही नही।

किसी भी जॉब के लिए अच्छी- पढाई लिखाई और प्रोफेशनल डिग्री की जरूरत होती है। वंही ब्लॉगिंग के लिए अगर आप 10वीं भी पास हैं या नही भी बस लिखना आता हो तो आप अच्छे- नौकरी करने वाले से भी ज्यादा कमा सकते हैं।

ब्लॉगिंग को आप चाहें तो घर-पर से ही कर सकते हैं या कंही बाहर गए हैं तो वंहा भी थोड़ा टाइम निकालकर ब्लॉगिंग कर सकते हैं।

अगर आप सही तरह से ब्लॉगिंग करते हैं तो आप 6 से 7 महीने में अच्छी इनकम करने लगते हैं।

ब्लॉग के लिए पोस्ट कैसे लिखें?

अभी आप इस फील्ड में नए हैं तो आपको ब्लॉग के लिए पोस्ट लिखने में थोड़ा दिक्कत होगी। लेकिन थोड़े दिन दिन में धीरे- धीरे आप भी एक अच्छी पोस्ट लिखने लगेंगे। पोस्ट लिखने का आसान तरीका ये है कि आप दुसरे लोगों की पोस्ट को पढ़कर अपनी भाषा में लिख सकते हैं। इससे आपकी पोस्ट कॉपीराइट नही होगी। लेकिन दूसरों की पोस्ट कापी बिल्कुल न करें, उनको देखकर अपनी भाषा मे लिख सकते हो। नही तो आपका ब्लॉग रैंक नही होगा। जिससे आपकी कमाई भी नही होगी।

इसके अलावा ब्लॉग या पोस्ट लिखने का आसान तरीका ये है कि आप जिस भी टॉपिक पर आर्टिकल या पोस्ट लिखना चाहते हैं तो उससे रिलेटेड वीडियो पर देख लें और उसी को अपनी भाषा मे लिख दें, ये काफी आसान तरीका है। चलिये अब जान लेते हैं कि आपको ब्लॉग किस टॉपिक पर बनाना चाहिए।

ब्लॉग किस टॉपिक पर बनाएं?

आपको जिस भी टॉपिक के बारे में ज्यादा नॉलेज हो और जिस भी टॉपिक पर आप अच्छे से लिख सकते हों। आप उस पर ही ब्लॉग बना सकते हैं। जैसेकि अगर आपको एक्टर और एक्टर्स के बारे में ज्यादा जानकारी है तो आप इनकी बायोग्राफी वाला ब्लॉग बना सकते हैं। अगर आपको फिल्में देखना पसंद है तो आप फ़िल्म रिव्यु वाला ब्लाग बना सकते हैं। अगर आपको कुकिंग का शौक है तो आप इससे रिलेटेड ब्लॉग बना सकते हैं। अगर आपको पढ़ाई में इंटरेस्ट है तो आप एजकेशनल ब्लॉग बना सकते हैं। अगर आपको शायरी आती हैं तो आप इससे रिलेटेड ब्लॉग बना सकते हैं। ब्लॉग के लिए टॉपिक की कमी नही है। आप किसी भी टॉपिक पर ब्लॉग बनाकर कमाई कर सकते हैं।

कुछ लोग ये सोचते हैं कि ब्लॉगिंग के लिए लैपटॉप बहुत जरूरी है तो हम आपको बता दें कि लैपटॉप कोई बहुत जरूरी नही है। आप अपने एंड्राइड फ़ोन से ही सबकुछ कर सकते हैं,। हां थोड़ा टाइम लगेगा। लैपटॉप की जरूरत शूरुआत में पड़ेगी। जब आप ब्लॉग बनाएंगे। इसके लिए आप साइबर कैफे पर भी जा सकते हैं या फिर अपने किसी दोस्त का एक दो घंटे के लिए लैपटॉप मांग सकते हैं।

कन्क्लूजन- इस तरह फ्रेंड्स आप डोमेन नेम और होस्टिंग लेकर ब्लॉग का सेटअप कर सकते हैं। लेकिन यंहा पर हम आपको एक बात बता दें जोकि आपको जानना बहुत जरूरी है। देखिए जब आप ब्लॉगिंग की शुरुआत करेंगे तो शूरुआती समय मे आपको काफी दिक्कतें हो सकती हैं। 2 से 3 महीने तक आपको हिम्मत से सिर्फ अपने ब्लॉग पर काम करना होगा। बहुत से लोग 2 से 3 महीने तक मुश्किल से ही काम करते हैं, इसके बाद निराश होकर ब्लॉगिंग छोड़ देते हैं और कहते है कि ब्लॉगिंग से पैसा कमाना शायद मुश्किल है। इन 3 से 6 महीने जिसने भी डटकर मेहनत कर ली तो 100% आपको ब्लॉगिंग मे सफलता मिलेगी।

मैं आपको ये इसलिए बात रहा हूँ कि कंही ऐसा न हो जोश में आकर तो आप ब्लॉग स्टार्ट कर लें। फिर एक दो महीने बाद इसको छोड़ दें। ऐसा मेरे भी साथ हुआ। कभी- कभी तो मुझे भी लगा कि ब्लॉगिंग छोड़ देते हैं। इसमे कुछ भी नही रखा है। लेकिन फिर मेरी मेहनत 4 से 5 महीने बाद रंग लाई और आज मैं कई ब्लॉग चलाता हूं और इनसे काफी अच्छी कमाई करता हूँ।

Leave a Comment